दिल्ली में जल संकट को लेकर आप और भाजपा में रार
s
दिल्ली में जल संकट को लेकर आप और भाजपा के बीच रार बढ़ती जा रही है। बीजेपी के कार्यकर्ता और नेता आम आदमी पार्टी के नेताओं के घर के बाहर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे पहले रविवार को आप कार्यकर्ताओं ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता के पटेल नगर स्थित आवास पर प्रदर्शन किया था फिर सोमवार को बीजेपी कार्यकर्ता मंत्री सत्येंद्र जैन के आवास की ओर प्रदर्शन के लिए जाने लगे तो पुलिस ने उनको रोक दिया। पुलिस को इन कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पानी की बौछार का इस्तेमाल भी करना पड़ा। पानी की बौछार छोड़े जाने के दौरान कुछ कार्यकर्ताओं को चोटें भी आईं।भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी ने राजधानी में पानी के संकट को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर पहले ही हमला बोला है। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली में पेयजल की किल्लत आम आदमी पार्टी की सरकार के कुप्रबंधन और टैंकर माफिया की वजह से हो रही है। इसलिए आक्सीजन की तरह पानी का भी आडिट होना चाहिए, जिससे साफ हो जाएगा कि पानी की किल्लत की असली वजह क्या है।  मनोज तिवारी ने कहा कि वह कई जगह 'पानी की पंचायत' का आयोजन कर चुके हैं। उसमें बुलाने पर भी अरविंद केजरीवाल और उनके विधायक नहीं पहुंचते, क्योंकि वह जनता से हकीकत जानने में विश्वास नहीं रख रखते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि टैंकर माफिया को फायदा पहुंचाने के लिए पेयजल किल्लत को दूर नहीं किया जा रहा है। आम आदमी पार्टी की सरकार हरियाणा को जिम्मेदार ठहराकर लोगों को भ्रमित कर रही है। मनोज तिवारी ने कहा कि पेयजल आपूर्ति को सुधारने की जिम्मेदारी अरविंद केजरीवाल सरकार की है। ईमानदारी से यह पता लगाया जाए कि हर वर्ष कितना पानी दिल्ली को मिलता है और उस पानी का उपयोग कहां-कहां किया जाता है तो निस्संदेह पेयजल की किल्लत तो दूर होगी। पानी को लेकर राजधानी में हो रहे भ्रष्टाचार से भी पर्दा उठेगा।

Share this story