क्रिप्टोकरेंसी को वैध मुद्रा बनाने वाला पहला देश बना अल साल्वाडोर

क्रिप्टोकरेंसी को वैध मुद्रा बनाने वाला पहला देश बना अल साल्वाडोर

नई दिल्ली। सेंट्रल अमेरिकी देश El Salvador ने बिटक्वाइन (Bitcoin) को लीगल टेंडर के रूप में मान्यता दे दी है। किसी भी क्रिप्टोकरेंसी को लीगल टेंडर यानी मुद्रा के रूप में औपचारिक रूप से कानूनी मान्यता देने वाला यह दुनिया का पहला देश बन गया है। इससे पहले El Salvador की कांग्रेस ने Bitcoin को कानूनी मान्यता देने को लेकर राष्ट्रपति Nayib Bukele के प्रस्ताव को पारित किया। उनके प्रस्ताव को 84 में से 62 वोट मिले। इस तरह अधिकतर लॉ मेकर्स ने बिटक्वाइन को औपचारिक तौर पर अपनाने से जुड़े कानून के निर्माण के पक्ष में मतदान किया।

Bukele ने कहा है कि Bitcoin के जरिए दूसरे देशों में रह रहे El Salvador के नागरिक आसानी से अपने घर पैसे भेज पाएंगे। उन्होंने साथ ही कहा है कि देश में अमेरिकी डॉलर भी लीगल टेंडर बना रहेगा।

कांग्रेस में मतदान के तुरंत बाद Bukele ने ट्वीट कर कहा, ''इससे हमारे देश में वित्तीय समावेशन, निवेश, पर्यटन, नवोन्मेष और आर्थिक प्रगति को बढ़ावा मिलेगा।''

उन्होंने आश्वस्त किया कि बिटक्वाइन के इस्तेमाल से यूजर्स को किसी तरह का जोखिम नहीं उठाना पड़ेगा। इसे लीगल टेंडर के रूप में इस्तेमाल करने में करीब 90 दिन का समय लग जाएगा।

Bukele ने कहा कि सरकार हर ट्रांजैक्शन के समय बिटक्वाइन के डॉलर में कंवर्जन की गारंटी लेती है।

El Salvador में करेंसी के रूप में डॉलर चलता है। यहां कि इकोनॉमी मुख्य रूप से दूसरे देशों में काम करे वर्कर्स द्वारा भेजे गए पैसे पर आधारित है।

Share this story