गाजीपुर के एक अस्पताल में कोरोना के टीका पड़े कम, टीकाकरण अभियान को लगा धक्का
s
गाजीपुर। कोरोना से बचाव के लिए चल रहे टीकाकरण अभियान को कम वैक्सीन मिलने से धक्का लगा है। जिला अस्पताल से लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तक आकर लोग बिना टीका लगवाए वापस लौट रहे हैं। यह समस्या कई दिनों से बनी हुई है।
भदौरा : स्थानीय सीएचसी पर तैनात विभाग के जिम्मेदार का कहना है कि कितना टीका किस केंद्र को मिलेगा वह जिला स्तर से तय हो रहा है। हर दिन ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य है, पर वैक्सीन न मिलने से अब तक सिर्फ 34246 लोगों को ही टीका लगाया जा सका है। पहले अफवाह की वजह से लोग टीका लगवाने से कतराते थे। प्रशासन के प्रयास के बाद टीकाकरण में तेजी आई तो अब वैक्सीन की किल्लत खड़ी हो गई है।हालत यह है कि टीका लगवाने के लिए मोबाइल पर आए मैसेज के बाद केंद्र पर पहुंच रहे लोगों को टीका ही नहीं लग पा रहा है। सीएचसी भदौरा से लोग निराश होकर वापस लौट रहे हैं। शनिवार को भी यहां टीका लगवाने के लिए आने वाले लोग परेशान होते रहे। दोपहर दो बजे तक डेढ़ सौ लोगों को सेकेंड डोज लग सका। सेवराई तहसील क्षेत्र के दूर दराज गांवों से टीका लगवाने लोग यहां आ रहे हैं।
- दिलदारनगर से मैं यहां भदौरा अस्पताल में कोरोना से बचाव के लिए टीका लगवाने आया था। यहां पता चला कि केवल सेकेंड डोज लगाई जा रही है। विभाग को व्यवस्था सुधारने की जरूरत है। - संतोष कुमार
- सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भदौरा में किसी प्रकार की कोई सुविधा नहीं है। इतनी गर्मी में पंखे तक की व्यवस्था नहीं है। गर्मी से आहत लोग पानी के लिए तरस रहे हैं। वैक्सीनेशन कराने के लिए दो दिन से चक्कर लगाने के बाद भी टीका नहीं लग सका। - बिंदु देवी
- महिलाओं के लिए बूथ पर कोई सुविधा नहीं है। पुरुषों के बीच भीड़ में खड़े रहना पड़ रहा है, सुरक्षा नाम की कोई चीज नहीं है। लोग धक्का मुक्की करते रहते हैं। महिला पुलिसकर्मी की ड्यूटी लगानी चाहिये। कई दिनों से टीकाकरण के लिए आ रही हूं, घंटों इंतजार के बाद भी टीका नहीं लगा।

Share this story