रोहतास में रविवार को आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं में एक महिला समेत 5 लोगों की मौत
s

बिहार (Bihar News) के रोहतास (Rohtas) जिले के अलग-अलग गांवों में रविवार को आकाशीय बिजली (Lightning) गिरने की घटनाओं में एक महिला समेत 5 लोगों की मौत हो गई है. शिवसागर के सिंघमपूरा में 55 साल के सुरेश सिंह, जबकि आलमपुर गांव में 14 वर्ष के बिट्टू कुमार की भी बिजली गिरने से मौत हो गई. शिवसागर के ही सिकंदरपुर गांव में 18 साल की संगीता कुमारी पर धान रोपाई के दौरान बिजली गिर गई जिससे इसकी मौके पर ही मौत हो गई. इस दौरान तीन अन्य महिलाएं भी बुरी तरह झुलस गई हैं.

तीनों घायल महिलाओं का इलाज सासाराम के सदर अस्पताल स्थित ट्रामा सेंटर में चल रहा है. बता दें कि शिवसागर में ही शनिवार सुबह 2 बच्चों की भी आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई थी. रोहतास के शिवसागर इलाके में बीते 24 घंटों में बिजली गिरने से 5 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 8 लोग घायल बताए जा रहे हैं. प्रशासन ने मृतकों के परिजनों को मुआवजा दिलाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. पुलिस ने बताया कि इलाके में ये धान की रोपाई का समय है और बारिश के दौरान खुले मैदानों में पानी में खड़े लोगों पर बिजली गिरने का खतरा सामान्य से काफी ज्यादा बढ़ जाता है. रोहतास में बीते 24 घंटों से लगातार बारिश भी हो रही है.

उत्तर बिहार में बारिश जारी

उत्तर बिहार में रविवार को भी दिनभर बारिश होती रही. बारिश के कारण सभी प्रमुख नदियों के जलस्तर में फिर से वृद्धि होने लगी है. गंडक और बूढ़ी गंडक में पानी बढ़ने से पूर्वी चम्पारण के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की स्थिति फिर विकराल होने लगी है. उधर समस्तीपुर में बागमती, बूढ़ी गंडक और करेह का पानी बिथान सहित पांच प्रखंडों में तबाही मचा रहा है. दरभंगा में कमला और जीवछ नदी का पानी बेनीपुर और बिरौल प्रखंड के नए क्षेत्रों में पानी फैल रहा है. पश्चिम चम्पारण में शनिवार को औसतन 4.4 एमएम बारिश हुई. पूर्वी चम्पारण में गंडक नदी के जलस्तर में फिर वृद्धि होने लगी है. डुमरिया घाट में गंडक नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 90 सेमी ऊपर है.

कई नदियों का जलस्तर खतरे के निशान के पास

राज्य की कुछ प्रमुख नदियों का जलस्तर लाल निशान से ऊपर होने के बाद भी बाढ़ का खतरा कम हुआ है. केवल बूढ़ी गंडक समस्तीपुर में खतरनाक संकेत दे रही है. कोसी नदी का डिस्चार्ज शनिवार को और कम हुआ है और गंगा के जलस्तर में भी कमी आई है. हालांकि खगड़िया जिले में कोसी लाल निशान से एक मीटर 108 सेमी ऊपर बह रही है.

Share this story