अगले हफ्ते से विदेश यात्रा कर सकेंगे भारतीय
S

भारत में कोरोना वायरस के दैनिक मामलों में कमी देखने को मिल रही है. ऐसे में कई देशों ने भारतीयों के लिए अपनी सीमाएं खोल दी हैं. अगले हफ्ते से भारतीय पर्यटक गैर-जरूरी यात्रा पर जा सकेंगे. ऐसे देशों की लिस्ट में कनाडा, मालदीव, जर्मनी शामिल हैं. कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कई देशों ने भारत के साथ अपनी सीमाएं बंद कर दी थीं.

कनाडा
कनाडा की पब्लिक हेल्थ एजेंसी ने 3 जुलाई को घोषणा की कि वे केवल नागरिकों और देश के स्थायी निवासियों के लिए यात्रा प्रतिबंधों में ढील देंगे. इस कदम का उद्देश्य इंटरनेशनल स्टूडेंट्स, स्थायी निवासियों के रिश्तेदारों और अस्थायी श्रमिकों को वैध वर्क परमिट की सुविधा प्रदान करना है. वहीं, भारतीयों सहित सभी यात्रियों को कनाडा में प्रवेश से 72 घंटे (3 दिन) के भीतर अनिवार्य रूप से एक नेगेटिव कोविड -19 जांच रिपोर्ट देनी होगी.

देश में प्रवेश करने वालों को कोविड -19 वैक्सीन की दोनों खुराक लेनी जरूरी है. फिलहाल, कनाडा सरकार ने मॉडर्न, फाइजर-बायोएनटेक, एस्ट्राजेनेका/कोविशील्ड और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को मंजूरी दी है. भारत की स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन और रूसी निर्मित स्पुतनिक वी को कनाडा द्वारा अभी तक मंजूरी नहीं दी गई है.

जर्मनी
भारत में जर्मन राजदूत वाल्टर जे लिंडनर ने मंगलवार को घोषणा की कि देश ने भारत सहित पांच डेल्टा वेरिएंट प्रभावित देशों से प्रतिबंध हटा लिया है. अब भारतीय यात्रियों को, जिन्हें कोविड-19 वैक्सीन की दोनों खुराक दी गई है या जो वायरस से ठीक होने का सबूत दिखा सकते हैं, उनके आगमन या जर्मनी लौटने पर खुद को क्वारंटीन करने की आवश्यकता नहीं होगी.

मालदीव
मालदीव के लिए उड़ान सेवाएं 15 जुलाई से फिर से शुरू होंगी. यात्रियों को अनिवार्य रूप से एक नेगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट साथ रखना होगा. कोरोना रिपोर्ट दिखाने पर मालदीव में खुद को क्वारंटीन करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

Share this story