दिल्ली के एम्स में 11 साल के बच्चे की एवियन इन्फ्लूएंजा से मौत
S
Bird Flu Death: कोरोना महामारी की दूसरी लहर अभी भी जारी है और इसी बीच देश में इस साल एवियन इन्फ्लूएंजा H5N1 (बर्ड फ्लू) के मरीज की पहली मौत हुई है. राजधानी दिल्ली के एम्स में 11 साल के बच्चे की एवियन इन्फ्लूएंजा से मौत हो गई है. मरीज की मौत के बाद संपर्क में आए सभी अस्पताल के कर्मचारियों को आइसोलेशन में रखा गया है.
दिल्ली एम्स के प्रशासन के मुताबिक 11 साल का ये बच्चा 2 जुलाई को एम्स में भर्ती कराया गया था.इस एवियन इन्फ्लूएंजा H5N1 मौत के बाद सभी कर्मचारी जो संपर्क में थे, उन्हें फ्लू के किसी भी लक्षण और लक्षणों के लिए खुद की निगरानी करने के लिए आइसोलेशन में रहने की हिदायत दी है. इसी साल शुरुआत में कई राज्यों बर्ड फ्लू के मामले सामने आए थे.
कैसे आता है मनुष्यों में बर्ड फ्लू?
मनुष्य में इंफेक्शन मरे या ज़िंदा संक्रमित पक्षियों से होता है. उसके आंख से, मुंह से, नाक से जो द्रव निकलता है या उसके मल से ये फैलता है. अगर इनमें से किसी भी चीज़ के संपर्क में मनुष्य आता है तो उसके अंदर भी ये संक्रमण आ सकता है. अगर किसी सतह पर या किसी संक्रमित पक्षी को छूने के बाद यदि कोई मनुष्य अपनी आंख नाक या मुंह में वो गंदा हाथ लगाता है तो उसे संक्रमण का खतरा हो सकता है.
यह भी देखा गया है के जब जंगली पक्षी उड़ते समय मल निष्काषित करतें हैं तो उसके संपर्क में आने से ये बीमारी शहरी पक्षियों में भी फैल जाती है. ऐसे में जो लोग भी पोल्ट्री फार्म में कार्य करतें हैं या पक्षियों के संपर्क में सीधे तौर पर रहते हैं उन्हें ज़्यादा सावधानी बरतने कि अवश्यकता है.

Share this story