कम उम्र के बच्चे की लिगामेंट सर्जरी कर मेडिकल साइंस ने रचा इतिहास
s

मेडिकल साइंस ने फिर इतिहास रच दिया है. भारत में सबसे कम उम्र के बच्चे की लिगामेंट सर्जरी कर दी गई है. बच्चे का नाम रोनित है और उसकी उम्र सिर्फ पांच वर्ष. बीएलके सुपर स्पेशिऐलिटी हॉस्पिटल की तरफ से इस सफल सर्जरी को संपन्न किया गया है और अब उस कारनामे की वजह से रोनित फिर अपने पैरों पर खड़ा हो पा रहा है. आज से पहले आठ साल के बच्चे की लिगामेंट सर्जरी की गई थी, लेकिन अब भारत ने वो रिकॉर्ड तोड़ दिया है.

 

5 साल के बच्चे की सफल लिगामेंट सर्जरी

बताया गया है कि डॉक्टरों द्वारा घुटने में टनल बनाकर इस चुनौतीपूर्ण सर्जरी को सफल बनाया गया है. इस सर्जरी के बारे में डॉक्टर दीपक चौधरी ने आजतक को विस्तार से बताया है. उन्होंने जानकारी दी है कि लिंगामेंट फ्रैक्चर अक्सर खिलाड़ियों में होता है. 20 से 38 साल की उम्र के खिलाड़ियों में यह ज्यादा देखा जाता है. हालांकि, 15 साल की उम्र के युवा प्लेयर में भी ऐसी इंजरी होती है. अब तक दुनिया में सबसे कम उम्र के 8 साल के बच्चे में लिंगामेंट सर्जरी का रिकॉर्ड दर्ज है, लेकिन रोनित अब दुनिया का सबसे कम उम्र का बच्चा हो गया है.

खेलने के दौरान चोट लगी थी

डॉक्टर दीपक चौधरी की टीम में काम करने वाले डॉक्टर शिव चौकसे ने बताया कि सर्जरी काफी चुनौतीपूर्ण थी क्योंकि रोनित की उम्र 5 साल है. वहीं उनकी पूरी फैमिली को इस सर्जरी के लिए कंवेंस करना भी काफी मुश्किल रहा. डॉक्टर के मुताबिक रोनित को घर में खेलने के दौरान चोट लगी थी, जिससे लिंगामेंट फ्रैक्चर हुआ था. शुरुआती जांच में उसे ज्यादा इंजरी नहीं दिख रही थी. लेकिन लगातार उसका दर्द बढ़ता जा रहा था. रोनित घुटना भी मोड़ नहीं पा रहा था.

डॉक्टर दीपक के मुताबिक रोहित की सर्जरी 3 महीने पहले हुई थी और अब उसके रिजल्ट सामने आए हैं. उसकी सर्जरी सक्सेसफुल रही है और वो अब अपने पैरों पर खड़ा हो पा रहा है. बताया गया है कि कुछ महीनों में रोनित बिल्कुल फिट हो जाएगा और फिर दूसरे बच्चों की तरह खेल-कूद कर पाएगा.

Share this story