पंजाब: नाजायज शराब की फैक्ट्री पर बवाल, AAP के अमरिंदर सरकार पर तीखे सवाल

पंजाब: नाजायज शराब की फैक्ट्री पर बवाल, AAP के अमरिंदर सरकार पर तीखे सवाल

बादल गांव में नाजायज शराब की फैक्ट्री पकड़े जाने का मामला तूक पकड़ता जा रहा है. चुनाव से कुछ महीने पहले ऐसी घटनाएं अमरिंदर सरकार की मुसीबतों को बढ़ाने वाला साबित हो रही हैं. अब आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब की ओर से लम्बी थाने का घेराव किया गया और दिल्ली मलोट हाई-वे जाम किया गया.

आप के नेताओं ने कैप्टन सरकार और शराब माफियाओं के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की और नाजायज शराब फैक्ट्री के प्रबंधकों और उनके सरपरस्तों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की.

नाजायज शराब की फैक्ट्री को लेकर बवाल

आम आदमी पार्टी के विधायक और किसान विंग पंजाब के प्रधान कुलतार सिंह संधवां ने कहा कि आज भी कांग्रेस पार्टी और अकाली दल के नेता एक साथ मिल कर नशे का कारोबार कर रहे हैं. यही कारण है कि गांव बादल में नाजायज शराब की फैक्ट्री पकड़े जाने के मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने कोई भी कार्रवाई नहीं की.

उन्होंने कहा कि कैप्टन की उदासीनता पंजाब पर भारी पड़ गई है. कैप्टन सरकार के समय बड़ी संख्या में पंजाब के लोग नकली शराब पी कर मर गए हैं, लेकिन शराब माफिया के खिलाफ सरकार की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.

आप के सरकार से तीखे सवाल

आप के यूथ विंग पंजाब के प्रधान और विधायक गुरमीत सिंह मीत हेयर ने कहा कि यदि कैप्टन सरकार ने तरनतारन, राजपुरा, घनौर और अन्य स्थानों पर काबू किए नकली शराब फैक्ट्रियों के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की होती तो आज शराब माफिया के हौसले बुलंद न होते.

उन्होंने जोर देकर कहा कि राजपुरा और बादल इलाके के लोगों को पता है कि कौन सा नेता या विधायक नकली शराब की फैक्ट्रियां चला रहा है. बादल गांव की शराब फैक्ट्री चलाने वाला व्यक्ति बादल परिवार का रिश्तेदार तो नहीं?

वहीं आम आदमी पार्टी ने यहां तक कह दिया है कि इस मामले में पंजाब पुलिस को निडर होकर कार्रवाई करने का मौका नहीं दिया जा रहा है. उन्हें दोषियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लेने से रोका जा रहा है.

आप ने दावा किया है कि पंजाब की सत्ता पर काबिज रहे नेताओं ने पंजाब की नौजवानी को शराब, चिट्टा और अन्य नेशों की दलदल में धकेल दिया है. 

Share this story