पामगढ़ में जनसहयोग से प्रारंभ किया जा रहा है 50 आक्सीजन बेड कोविड हास्पीटल

पामगढ़ में जनसहयोग से प्रारंभ किया जा रहा है 50 आक्सीजन बेड कोविड हास्पीटल

निखिल कश्यप की रिपोर्ट


 पामगढ़ । बढ़ते कोरोना संक्रमण और इससे  हो रहे मृत्यु को देखते हुए पामगढ में जनसहयोग 50 आक्सीजन बेड वाला कोविड  अस्पताल प्रारंभ किया जा रहा है। इसकी प्रक्रिया भी प्रारंभ हो गया है। इस कोविड अस्पताल के लिये  क्षेत्र के अधिकारी कर्मचारी ब्यपारी व आम जन बड़ी संख्या में दान देने की पेशकश किये हैं।इसी कड़ी में मितानिन संघ पामगढ़ द्वारा अब तक की सबसे बड़ी राशि 225000/देने की घोषणा की गयी थी जिसके स्थान पर तीन हजार रुपये बढाकर दो लाख अठाईस हजार रुपये कोविड अस्पताल के लिये उपयोग में लाये जा रहे कमला देवी शिक्षण संचालन समिति के खाता में अंतरण करा दिया।जो कि अब तक की दान की सबसे बड़ी राशि है।


         ज्ञात हो कि पिछ्ले वर्ष भी मितानिन संघ पामगढ़ द्वारा प्रधानमंत्री केयर फंड में इन्कावन हजार रुपये व मुख्यमंत्री कोष में इनकावन हजार रुपये इस तरह कुल एक लाख दो हजार रुपये दान किये थे।इसके अलावा मितानिनो ने प्रवासी मजदूरों व राहगीरों को लगातार डेढ़ माह तक भोजन भी कराया था।इसके अलावा बड़ी संख्या में मास्क आदि का भी वितरण किये थे।
कुल मिला कर पामगढ़ में मितानिनो ने लगातार कोरोना संक्रमण काल में अपनी अहम्  भुमिका निभाते आया है।


          यहां पर सबसे बड़ी उल्लेखनीय बात यह है कि मितानिन व मितानिन वर्करों को कोई वेतन या मानदेय नहीं मिलता बल्कि ये सभी स्वास्थ्य विभाग में स्वैक्षिक सहयोग करते हैं जिनके एवज में मामूली प्रोत्साहन राशि व क्षतिपूर्ति राशि मिलता है। इसके बावजूद भी अपने जिम्मेदारी कभी नहीं भूलते।
      ब्लाक समन्वयक व संघ के जिलाध्यक्ष संतोष लहरे ने सभी मितानिनौं व प्रशिक्षकों को इस सहयोग के लिये धन्यवाद दिया है।
      इस दौरान ब्लाक समन्वयक माखन आर्ले,स्वस्थ पंचायत समन्वयक संगीता रात्रे,प्रशिक्षक गण सुशीला पाटले,शैल पटेल,हिरौंदी राय,सरस्वती कोसले,लक्ष्मी खरे,नर्मदा निराला,फुलेश्वरी पटेल,अमरीका पटेल,वन्दना टंडन,ज्ञान कश्यप,रंजना टंडन,बिन्दु टंडन,प्रगती कान्त,रमतला दिनकर,इन्द्र्कुमार रात्रे,रमेश दिनकर,रुख्मणी खुटे,रजनी पंकज,उतरी मानिकपुरी प्रमिला गोस्वामी मितानिन संतोषी साहू,अनिता यादव,सुनीता श्रीवास,सविता पटेल,गायत्री अनंत,शैलजा नोनिया,गायत्री कैवर्त्य,शान्ति खूँटे,सुशीला लहरे,निर्मला गोस्वामी,श्यामा आर्ले,सुदेश बर्मन,नेहा साहू,सुबारता दिनकर,कमला साहू सहित सभी मितानिनों का का सक्रिय योगदान रहा।

Share this story