आरोग्य भारती पंजाब ने ऑनलाइन राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया
आरोग्य भारती पंजाब
आरोग्य भारती पंजाब की ओर से "Homoeopathy in Covid 19 Prevention and Management"
एक ऑनलाइन राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन आज 11वजे से 1 बजे दोपहर तक गूगल मीट एवं फेसबुक लाइव पर किया गया ।
इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ. अशोक वार्ष्णेय जी ,राष्ट्रीय संगठन सचिव आरोग्य भारती द्वारा मार्गदर्शन हुआ। उन्होंने कहा कि कोरोना में देश ओर विदेशों में Traditional चिकित्सा पद्धति का उपयोग हुआ है।इन पद्धतियों के परिणाम सकारात्मक रहें हैं। इस वेबीनार में डॉ अशोक वार्ष्णेय जी ने बताया कि इस कोरोना कालखंड में होम्योपैथिक का विशेष रुप से योगदान रहा है ।उन्होंने कहा कि होम्योपैथी दवाईयो से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में विशेष सहायक होती है ।
इस वेबीनार में मुख्य वक्ता डॉ. शिवांग स्वामीनारायण जी आरोग्य भारती के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य ने बताया की होम्योपैथी दवाई Arsenic Album 30 का इस कोरोना कालखंड में प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने का विशेष योगदान रहा है । इस दवाई का वितरण का देश के 20 प्रान्तों ,75 जिलो 109 होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज मे 1.7 करोड़ लोगों को किया गया। इसके परिणाम बड़े उत्साह वर्धक सिद्ध हुए हैं। कोरोनाकाल की दूसरी वैव में भी होम्योपैथिक दवाईयो के परिणाम सकारात्मक रहें है।
इस वेबीनार में दूसरी वक्ता डॉ. जूही गुप्ता सहायक प्रोफेसर राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज भोपाल ने अपने संबोधन में होम्योपैथिक दवाईयो के उपयोग ओर कोविड-19 के इलाज के बारे में विस्तृत जानकारी दी ।
इस वेविनार की अध्यक्षता सुश्री मनिंदर कौर जी उत्तर क्षेत्र महिला कार्य प्रमुख जी ने की । उन्होंने इस कोरोनाकाल होम्योपैथिक के योगदान एवं इस से जुड़े विशेषज्ञों की प्रशंसा की।
इस वेविनार में विशेष गणमान्य व्यक्तियों , होम्योपैथिक चिकित्सक एवं लार्ड महावीर होम्योपैथिक मेडिकल कालेज लुधियाना, होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज चण्डीगढ़ एवं देश के अन्य प्रान्तों के होम्योपैथिक छात्रों ने भाग लिया । वेविनार मे डॉ. ईश्वर चंद सरदाना संगठन सचिव आरोग्य भारती पंजाब ने सभी वेविनार में उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों का धन्यवाद किया ।
इस कार्यक्रम का संचालन डॉ. प्रमोद कुमार सचिव, आरोग्य भारती पंजाब , डॉ डल्सी कालड़ा ,डॉ रुचिता जयरश ने किया।
इस वेविनार में डॉ. एस. पी. बत्रा मध्यप्रदेश डॉ.के.के . भार्गव,डॉ. सरोज सोनी ,डॉ. पांडे , गिरिवर जी ने विशेष रूप से भाग लिया।‍‍‌ ‌‌‍

Share this story