नन्हे पर्यावरण प्रहरियों का अभियान
K
नन्हे पर्यावरण प्रहरियों का ‘सेल्फी विद ट्री’ अभियान लोगों का ध्यान अपनी ओर खींच रहा है। अभियान से गांव से लेकर शहर तक के लोग जुड़ रहे हैं और बच्चों की सराहना कर रहे हैं। 
तीन से लेकर 18 साल तक के बच्चों ने इस अभियान से लोगों को पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझने की जरूरत बताई। देहरादून, विकासनगर, रायपुर एवं चमोली घाट के बच्चों ने पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में तीन दिवसीय ‘सेल्फी विद ट्री’ अभियान की ऑनलाइन शुरुआत की है। 
माउंटेन चिल्ड्रन फाउंडेशन के सहयोग से शुरू किए गए इस अभियान से सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोग जुड़ रहे हैं। बच्चे अपने-अपने घरों में पौधरोपण भी कर रहे हैं। फाउंडेशन की अध्यक्ष अदिति ने कहा कि सामाजिक जागरूकता के लिए बच्चों से बेहतर माध्यम कोई नहीं हो सकता। 
जिस गदेरे का पानी पूरा गांव पीता है, उसकी सफाई होना भी जरूरी है, लेकिन जब गदेरे के पास जमी गंदगी की सुध किसी ने नहीं ली तो सिल्ला गांव के 40 बच्चों ने एकजुट होकर गदेरे की सफाई का बीड़ा उठाया।
गांव की शीतल ने बताया की 40 बच्चों को अलग अलग समूहों में बांटकर गदेरे की सफाई की जिम्मेदारी दी गई है। 
पीपल सार विकासनगर के तीन साल के आदित्य ने सबका दिल जीता। उसने इस बार तो पौधा रोपा ही, साथ ही पिछली बार रोपा अपना पौधा भी सबको दिखाया। आदित्य अपने लगाए पौधे की पूरी देखभाल करते हैं।

Share this story