दिल्ली पुलिस की कांस्टेबल भर्ती प्रक्रिया में धोखाधड़ी का मामला आया सामने
s

दिल्ली पुलिस की कांस्टेबल भर्ती प्रक्रिया में धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. कांस्टेबल भर्ती प्रक्रिया के लिए चल रहे फिजिकल टेस्ट के दौरान एक ही उम्मीदवार की तस्वीर वाले तीन एडमिट कार्ड मिले हैं. इस मामले में जब पुलिस ने जांच की तो पता चला है कि पुलिस कांस्टेबल भर्ती के लिए परीक्षा देने के लिए 27 लाख रुपये का भुगतान किया था. इस मामले में दिल्ली पुलिस ने अब तक तीन सेंटर्स से करीब 24 लोगों को धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. इसमें उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के दो सगे भाई भी शामिल हैं.

 

पुलिस कांस्टेबल भर्ती के दौरान धोखाधड़ी करने वालों को आरएफआईडी सिस्टम और सीसीटीवी कैमरों की मदद से पकड़ा गया. इस मामले की जांच कर रही पूर्वोत्तर जिले की एक विशेष टीम ने अब तक उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान से संबंध रखने वाले 24 आरोपियों के खिलाफ 16 एफआईआर दर्ज की हैं. दिल्‍ली पुलिस कांस्टेबल की भर्ती के लिए परीक्षा दिसंबर 2020 में आयोजित की गई थी. जानकारी के मुताबिक, लिखित परीक्षा आयोजित कराने के लिए देश भर में 306 सेंटर बनाए गए थे. यह परीक्षा केंद्र देश के 132 शहरों में बने थे. इन लिखित परीक्षा केंद्रों पर 15 लाख 44 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए थे.

 

आईपीएस श्वेता चौहान ने दी ये जानकारी

 

दिल्ली पुलिस डीसीपी रिक्रूटमेंट सेल आईपीएस श्वेता चौहान ने कहा, "अभी कई जगहों पर छापेमारे की जा रही है. गिरफ्तार आरोपियों से भी कई महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं. लिखित परीक्षा किसी और के द्वारा दिए जाने और फिजिकल टेस्ट में किसी और कैंडिडेट के शामिल होने के इन मामलों में किसी बड़े 'सॉल्वर' गैंग की मिली-भगत होने के अंदेशे से इनकार करना जल्दबाजी हो सकती है. पता चला है कि अब तक गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से कई लोग यूपी, हरियाणा और राजस्थान से संबंध रखते हैं."

Share this story