साइबर क्राइम ने फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर बड़े अधिकारियों को बना रहे हैं निशाना कहां रांची के डीसी ने
साइबर क्राइम ने फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर बड़े अधिकारियों को बना रहे हैं निशाना कहां रांची के डीसी ने

बोकारो से शेखर की रिपोर्ट

 सोमवार के दिन रांची डीसी  छविरंजन के नाम पर एक फर्जी फेसबुक अकाउंट बना ली गई है यह फर्जी अकाउंट के जरिए साइबर अपराधी लोगों से पैसे की मांग कर रहे हैं सोमवार को दर्जनों लोगों को डीसी के फर्जी अकाउंट से मैसेज भेजा गया और उनसे पैसे की मांग की गई कुछ तो कल सुबह वापस कर दूंगा यह कहकर सभी को फोन पर पर या गूगल पर करने के लिए कहां जा रहा है फोन पर के लिए नंबर भेजा जा रहा है जो डीसी के परिचित है या उनकी फ्रेंड लिस्ट में शामिल रहे हो इनमें कई आईएस पुलिस अधिकारी और राज्यसभा के प्रशासनिक अधिकारियों से पैसे मांगे गए हैं फेसबुक अकाउंट ठीक वैसा ही बनाया गया है जैसा रांची डीपी का वास्तविक फेसबुक अकाउंट है इसकी सूचना डीसी को मिले इसके बाद डीसी ने रांची के एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा को सूचना दी है फेसबुक आईडी युवक की तलाश के लिए एक विशेष टीम को लगाया है

साइबर सेल की टीम साइबर अपराधियों को ट्रैक करने की कोशिश कर रही है इससे पहले भी कई अधिकारियों के बनाए गए फर्जी अकाउंट साइबर अपराधी ने इन दिनों फेसबुक को भी ठगे का हथियार बना दिया है इससे पहले भी रात में कई पुलिस अधिकारी के फर्जी अकाउंट के माध्यम से भी ठगी करने की कोशिश साइबर अपराधी कर रहे हैं इनमें आइए एसपी डीएसपी मंत्री व विधायक के फेसबुक अकाउंट पर नजर इन दिनों साइबर अपराधी की नजर अफसरों व्यवसाय और नामचीन हस्तियों की फेसबुक अकाउंट पर रहती है उनके अकाउंट का ठीक से अध्ययन करने के बाद संबंधित व्यक्ति के मित्रों की सूची में शामिल लोगों को मैसेज भेज कर तबीयत खराब होने अस्पताल में भर्ती होने और अभी आवश्यक कार्य में व्यस्त था समेत तमाम विषय पर स्थिति का हवाला देते हुए तत्कालीन रूप से रुपयों की मांग करता है कहता है कि शाम तक या कल सुबह तक उनके वापस करने का भरोसा भी देता है किसी फेसबुक आईडी के मदद के नाम पर रुपए मांगे जाएं तो पहले उस व्यक्ति के मोबाइल या किसी संपर्क नंबर पर उससे कॉल कर दे हकीकत का पता चल जाएगा लोन आईडी साइबर अपराधी तभी नहीं बना पाएगा

जब आपकी आईडी की प्राइवेसी सिस्टम मजबूत ना हो अपना आईडी ओन्ली मी या ओन्ली फ्रेंड में रखे साइबर अपराधी आपकी आईडी में प्रवेश नहीं कर पाएंगे ऐसे नहीं एक केस बोकारो के तत्कालीन उपायुक्त मुकेश कुमार का फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर साइबर अपराधी ने अभी लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजना शुरू ही किया था कि उसको इसकी जानकारी हो गई उन्होंने एसपी चंदन कुमार झा से इसकी जांच कराने को कहा जिसकी जांच चल रही है

Share this story