विशाल काय किंग कोबरा के निकलने से क्षेत्र में हड़कंप, डीएफओ की टीम ने किया रेस्क्यू

विशाल काय किंग कोबरा के निकलने से क्षेत्र में हड़कंप, डीएफओ की टीम ने किया रेस्क्यू

हरिश साहू की रिपोर्ट

कोरबा । कोरबा जिले के बताती के गांव में एक विशाल काय किंग कोबरा एक घर के बरांदे में रखें बास के नीचे बैठा हुआ था, जिसको देख घर वाले भाग खड़े हुए बिना देरी किए गांव वालों ने कोरबा जिले के स्नेक रेस्क्यू टीम के जीतेंद्र सारथी को इसकी सूचना दी, बिना देरी किए जितेंद्र ने कोरबा डीएफओ प्रियंका पाण्डेय को जानकारी दी जिसके बाद डीएफओ ने तत्काल डिपार्टमेंट को रेस्क्यू टीम के साथ बताती गाँव जाने का आदेश दिया,रेंजर कर्मकार पूरे टीम के साथ बताती के लिए रवाना हुए, मौके स्थल में पहुंचने पर देखा गया कि गाँव वाले बड़ी संख्या में खड़े हुए विशालकाय किंग कोबरे को देख रहें थे भीड़ को हटाया गया क्यों की किंग कोबरा बहुत ही तेज और गुस्सैल किसम का होता हैं।

रेस्क्यू के दौरान कोई अप्रिय स्थिति न निर्मित हों उसके लिए सभी को वहा से हटाया गया जिसके बाद जितेंद्र सारथी ने रेस्क्यू ऑपरेशन अपने टीम के सदस्यों के साथ चालू किया,बास के नीचे बैठे विशाल काय किंग कोबरा को देख सब लोग हैरान थे, बाहर निकालते ही लोगों उस सांप को देखते रह गए, बड़ी सावधानी से उसको रेस्क्यू किया गया,कोबरा की लंबाई लगभग 15 फ़ीट की थी, यह पहला अवसर था जब जितेंद्र सारथी को किंग कोबरा मिला जो उनके टीम के लिए बहुत बडी बात रही साथ ही वन विभाग के लिए भी बहुत बडी बात रही।

रेस्क्यु ख़तम कर उसे कोरबा डीएफओ प्रियंका पाण्डेय को दिखाया गया जिसमें वे स्वयं ही रिलीज में चलने की बात कही, डीएफओ ने बताया की जिले में किंग कोबरा इससे पहले भी मिले है पर इस साइज का का पहला मामला हैं साथ ही इनके लिए जल्द हीं इनके संरक्षण के लिए कुछ किया जाएगा, रेस्क्यू टीम में टीम के सदस्य राजू बर्मन, मोंटू, सहीद और अनुज यादव रहें। डीएफओ ने स्नेक रेस्क्यू टीम के प्रमुख जितेंद्र सारथी और उसकी पूरी टीम को बधाई दिया साथ ही आगे भी ऐसे ही काम करते रहने को कहा जिसके बाद रेस्क्यू टीम के साथ खुशी जाहिर करते हुए विक्टरी देखते हुए , अच्छे काम की प्रशंसा किया।
     बनना चाहिये स्नैक पार्क

कोरबा स्नैक रेस्क्यू टीम के प्रमुख जितेंद्र सारथी ने जिले में जल्द हीं स्नेक पार्क बनाने की मांग की है,उन्होंने कहा  कि हमारी टीम जिले में लगातार सांपो के साथ लोगों को बचाने का कार्य कर रही है व आगे भी कार्य करते रहेंगे, पार्क बन जाने पर जिले को पूरे प्रदेश के साथ पूरे भारत मे एक अलग पहचान मिलेगी साथ ही साँपो को संरक्षण मिलेगा।

Share this story