दिग्विजय सिंह कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने के मामले में घिरते नजर आ रहे हैं
s

कांग्रेस के दिग्गज नेता और अपने बयानों के लिए मशहूर दिग्विजय सिंह कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने के मामले में घिरते नजर आ रहे हैं. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत कई बड़े कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ रविवार शाम को पुलिस ने केस दर्ज किया है.

कांग्रेस नेताओं के खिलाफ अशोका गार्डन थाने में केस दर्ज किया गया है. आरोप है कि कांग्रेस नेताओं ने कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाई हैं, वहीं सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क जैसे अनिवार्य नियमों का पालन नहीं किया है.

कांग्रेस नेताओं पर कोरोना के दौरान धरना प्रदर्शन करने, भीड़ एकत्रित करने संबंधित शासकीय आदेशों के उल्लंघन की धाराओं में केस दर्ज किया गया है. आरोप है कि इस तरह से इकट्ठा होने से कोरोना संक्रमण का फैलाव हो सकता है, ऐसे में इसे भी केस का आधार बनाया गया है.
 

क्या हैं नेताओं पर आरोप?

भोपाल के अशोका गार्डन पुलिस थाने में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत कई कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ रविवार शाम को केस दर्ज किया है. इन सभी पर कोरोना के दौरान धरना-प्रदर्शन, भीड़ एकत्रित होने से महामारी फैलने का अंदेशा और शासकीय आदेशों के उल्लंघन की धाराओं में केस दर्ज किया गया है

बड़ी संख्या में जुटे थे कांग्रेस कार्यकर्ता!

दरअसल, राजधानी भोपाल के गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में एक पार्क की जमीन को प्राइवेट संस्था को देने पर कांग्रेस नेता विरोध करने प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे थे. दिग्विजय सिंह भी इसी मौके पर पहुंच गए, रविवार को ही संस्था के कार्यकालय का भूमिपूजन हुआ था.
 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भीड़ और विरोध प्रदर्शन के बाद पुलिस ने वॉटर कैनन का इस्तेमाल कर दिया था. कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने बैरिकेड लगाए लेकिन कार्यकर्ताओं ने उसे तोड़ दिया. अब इन्हीं नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ कोरोना नियमों को तोड़ने के आरोप में केस दर्ज किया गया है.

Share this story