बेरला विकासखंड के विभिन्न गॉव में वायरल फीवर का प्रकोप बढ़ रहा है
बेरला विकासखंड के विभिन्न गॉव में वायरल फीवर का प्रकोप बढ़ रहा है

हेमंत कुमार साहू

जिपं सभापति राहुल टिकरिहा ने जिलाधीश व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिख वायर फीवर व कोरोना की दवाईयां शिविर लगाकर या मितानिन बहनों / पंचायतों के माध्यम से दवाई वितरण की रखी माँग......

बेरला विकासखंड के विभिन्न गॉव में वायरल फीवर का प्रकोप बढ़ रहा है, ऐसे में कोरोना जाँच असंभव जिसके रोकथाम हेतु गॉवो में दवाई वितरण नितांत आवश्यक......

कोरोना महामारी विकराल रूप ले रहा है। प्रतिदिन कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में भी वृद्धि हो रही है। बेरला विकासखण्ड के विभिन्न गांवों में लगातार वायरल फीवर बढ़ रहा है।

जिसे लेकर जिपं सभापति राहुल योजराज टिकरिहा नें जिलाधीश व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिख कहा कि ग्रामीणों को वायरल फीवर होने से ग्रामीण कोरोना मानकर टेस्ट करवाने पहुंच रहे है। टेस्ट करवाना एक लेवल तक उचित भी है। किन्तु वर्तमान परिस्थिति में हमारे जिले में किट की समस्या बनी हुई है और इतने टेस्ट असंभव भी है। वर्तमान समय में वायरल फीवर तेजी से फैल रहा है। हर लक्षण कोरोना नहीं होता है। इसके लिए ग्रामीणों को जागरूक करना आवश्यक है।

निवेदन करते हुए लिखा कि बेरला विकासखंड के गांवों में वायरल फिवर के रोकथाम के लिए हेल्थ व वेलनेश सेंटर या शिविर लगाकर या मितानिन बहनों अथवा पंचायतों के माध्यम से दवाई वितरण कर रोकथाम करना अत्यंत अवश्य है।

वायरल फीवर की वजह से बढ़ रहा कोरोना का प्रकोप

जैसे ही लोगों को वायरल के तहत बुखार सर्दी,खांसी हो रहा है। वह कोरोना जाँच कराने पहुंच जाते है वहाँ के भीड़ में व न जाने कितने कोरोना संक्रमित लोगों के संपर्क में आकर स्वयं संक्रमित हो जाता है।

इतने लोगों का एक साथ कोरोना टेस्ट असंभव

राहुल ने बताया कि बेरला विकासखंड कई गाँव जैसे कोहड़िया, गाड़ामोर, गुधेली, जमघट, पेंड्री, कुरूद, कठिया, अछोली, बारगांव, सींवार, पतोरा, कुसमी, भांड (रामपुर), खर्रा, सरदा, गुधेली, हरदी, किरितपुर, कोदवा व अन्य बहुत से ऐसे गाँव है। जहाँ वायरल फीवर का प्रकोप इतना ज्यादा है। कि यहाँ पर कोरोना टेस्ट असंभव है। अतः ऐसे जगहों का चयन कर वायरल व कोरोना की प्रारंभिक दवाईयां शिविर या स्थानीय माध्यमों से वितरण किया जाए।

वैक्सिनेशन से दूरी बना रहे है ग्रामीण।

राहुल ने बताया कि ग्रामीण अंचलों में कोरोना के साथ वायरल, टायफाइड का प्रकोप बढ़ा हुआ है। जिसके चलते ग्रामीण बुखार, सर्दी, खाँसी से ग्रसित है। उसी के चलते ग्रामीण अब वैक्सिनेशन पर रुचि नहीं ले रहे। हमें पहले इसके रोकथाम हेतु पहल करना होगा।

वर्सन- अब ग्रामीण अंचल में वायरल का प्रकोप बढ़ते जा रहा है। हमारे पास कोरोना जाँच हेतु किट की समस्या बनी हुई है। ऐसी स्थिति में इसके रोकथाम हेतु वायरल फीवर के साथ साथ कोरोना के प्रारंभिक दवा का वितरण आवश्य है।-
राहुल योगराज टिकरिहा
प्रदेश संयोजक- अंकुर समाजसेवी संस्थान
सभापति- जिला पंचायत, बेमेतरा
सोशल मीडिया प्रभारी- भाजपा किसान मोर्चा, छग
जिला संयोजक- भाजपा सहकारिता प्रकोष्ट, बेमेतरा
जिलाध्यक्ष- संघर्षशील किसान मोर्चा, बेमेतरा

Share this story