झारखंड बोर्ड परीक्षा रद्द होने की खबर इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुई, जानें इसका सच

झारखंड बोर्ड परीक्षा रद्द होने की खबर इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुई, जानें इसका सच

रांची। झारखंड एकेडमिक बोर्ड यानि जैक की 10वीं और 12वीं परीक्षा तिथि की घोषणा का लाखों छात्र-छात्राएं इंतजार कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण के कारण इस परीक्षा के होने या स्‍थगित तथा कैंसिल होने की अभी तक घोषणा नहीं की गई है। लेकिन इसी बीच इंटरनेट मीडिया पर एक नो‍टिस वायरल हो रहा है। इसमें परीक्षा के कैंसिल होने की बात कही गई है। यहां बता दें कि यह वायरल नोटिस फर्जी है। जैक यानि झारखंड बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा रद नहीं की गई है।

इस संबंध में जैक के अध्‍यक्ष अरविंद कुमार ने कहा कि परीक्षा रद नहीं हुई है। अभी ऐसा निर्णय नहीं हुआ है। परीक्षा को लेकर सरकार का जो भी निर्देश आएगा, जैक उसी के अनुसार आगे की प्रक्रिया शुरू करेगा। उल्‍लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा रद कर दी गई है। इसके बाद देश के कई राज्‍यों की सरकारों ने अपने यहां बोर्ड की परीक्षा रद कर दी है। झारखंड में भी बोर्ड परीक्षा रद करने की मांग हो रही है।

7.63 लाख छात्र-छात्राओं की नजरें जैक पर

सीबीएसई, सीआइएससीई सहित कुछ राज्य बोर्ड की 10वीं व 12वीं की परीक्षा रद होने के बाद अब झारखंड एकेडमिक काउंसिल के 7.63 लाख छात्र-छात्राओं की चिंता बढ़ गई है। जैक की 10वीं (मैट्रिक) व 12वीं (इंटरमीडिएट) परीक्षा होगी या नहीं, इस पर संशय बना हुआ है। करीब 12 राज्यों ने तो 10वीं की परीक्षा बहुत पहले ही रद कर दी थी। वहीं मंगलवार को सीबीएसई व सीआइएससीई की 12वीं की परीक्षा रद करने की घोषणा के बाद उस 12 में से 5 राज्य बोर्ड ने 12वीं की भी परीक्षा रद कर दी। इन सबके बीच सबसे महत्वपूर्ण व रोचक यह है कि देशभर में केवल बिहार ही ऐसा राज्य है जिसने न सिर्फ परीक्षा का आयोजन किया, बल्कि रिजल्ट भी जारी कर दिया।

झारखंड के पड़ोसी राज्यों की स्थिति

झारखंड के पांच पड़ोसी राज्यों में से उत्तर प्रदेश बोर्ड ने 10वीं व 12वीं दोनों की परीक्षा रद कर दी है। छत्तीसगढ़ में केवल 10वीं परीक्षा रद हुई है। बिहार में तो परीक्षा होकर रिजल्ट भी जारी हो गया है। वहीं पश्चिम बंगाल व ओडिशा बोर्ड ने परीक्षा को लेकर अभी कुछ भी घोषणा नहीं किया है। बिहार में 10वीं की परीक्षा 17 से 24 फरवरी तक हुई थी। इसमें 16,54,171 विद्यार्थी शामिल हुए थे। इसका रिजल्ट 5 अप्रैल 2021 को जारी कर दिया गया। वहीं 12वीं की परीक्षा 1 से 13 फरवरी तक हुई। इसमें 13 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इसका रिजल्ट 26 मार्च को जारी हुआ था।

 ...तो हो जाती परीक्षा

जैक बाेर्ड में 10वीं में 4.32 लाख व 12वीं में 3.31 लाख परीक्षार्थियों को शामिल होना था। वैसे तो जैक हर साल फरवरी माह में ही बोर्ड परीक्षा आयोजित करता रहा है। लेकिन इस बार वर्ष 2021 में फरवरी में कोरोना की समस्या के कारण जैक ने 9 मार्च से परीक्षा के आयोजन की तिथि तय की थी। इसके बाद छात्र व शिक्षक संघ परीक्षा की तिथि बढ़ाने की मांग करने लगे। शिक्षा विभाग के निर्देश के बाद परीक्षा की तिथि बढ़ाकर 4 मई कर दी गई। अब वही शिक्षक नेता कह रहे हैं कि 9 मार्च से परीक्षा हो जाती, तो ठीक रहता।

Share this story