रात भर एम्बुलेंस में तड़पता रहा मरीज, डॉक्टरों ने नहीं किया भर्ती

रात भर एम्बुलेंस में तड़पता रहा मरीज, डॉक्टरों ने नहीं किया भर्ती

बरेलीजिले में इन दिनों कोरोना के बढ़ते मरीजों की वजह से अस्पतालों का बुरा हाल है. अस्पताल वाले मरीजों को भर्ती नहीं कर रहे, जिस वजह से मरीज अस्पताल के बाहर तड़प रहे हैं. लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है. लोग वीडियो वायरल करके मीडिया और मोदी-योगी से फरियाद कर रहे हैं. ताजा मामला रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज का है जहां रात भर मरीज एम्बुलेंस में तड़पता रहा, लेकिन उसे भर्ती नहीं किया गया.

फरियाद करती रही पत्नी, डॉक्टरों का नहीं पसीजा दिल

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि 108 एम्बुलेंस में एक मरीज की हालत काफी सीरियस है. उसे सांस लेने में भी काफी दिक्कत हो रही है. 108 एम्बुलेंस मरीज को लेकर जब रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज पहुंची तो वहां गेट पर ताला लगा हुआ था. बताया गया कि अस्पताल में बेड उपलब्ध नहीं है. इस पर मरीज की पत्नी रो-रोकर अपने पति को भर्ती करने की फरियाद करती रही, लेकिन धरती का भगवान कहे जाने वाले डॉक्टरों को उस पर दया नहीं आई. इससे आक्रोशित लोगों ने अस्पताल के बाहर से वीडियो बनाकर वायरल कर दिया. हालांकि ईटीवी भारत इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है.

'मोदी-योगी जी आपको ही वोट देती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं करुंगी'
वहीं एक और वीडियो रुहेलखंड हॉस्पिटल का वायरल हुआ है. जहां एक महिला पीएम मोदी और सीएम योगी से कह रही है कि उनके पिता का रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज में सही इलाज नहीं हुआ, जिस वजह से उनकी मौत हो गई. महिला कह रही है कि मोदी जी, योगी जी, मैं आप पर बहुत विश्वास करती थी. आपको ही वोट देती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं करूंगी. महिला का कहना है कि मेडिकल कॉलेज से रोजाना 6-7 लोगों की डेड बॉडी निकल रही है.

फिलहाल सरकारी आंकड़ो में भले ही बरेली में 5-6 लोगो की मौत हो रही हो, लेकिन हकीकत इसके उलट है. श्मशान भूमि पर रोजाना 30-40 कोविड मरीजों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है. हालात कब सुधरेंगे पता नहीं, लेकिन बरेली में इन दिनों त्राहि-त्राहि मची हुई है.

Share this story