बाहर से आने वालों को क्वारंटाइन में रहने और कोरोना जांच के बाद ही मिलेगा गांवों में प्रवेश : कलेक्टर
बाहर से आने वालों को क्वारंटाइन में रहने और कोरोना जांच के बाद ही मिलेगा गांवों में प्रवेश : कलेक्टर

जागेशवर प्रसाद वर्मा कि रिपोर्ट

बलौदाबाजार, 23 अप्रैल 2021/कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने कहा है कि बाहर से जिले में आने वाले लोगों को एक सप्ताह की क्वारंटाइन अवधि बीताने और कोरोना जांच के बाद ही ग्राम के भीतर प्रवेश दिया जाएगा। यदि जांच में पॉजिटिव मिला तो उसे आइसोलेट कर इलाज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रत्येक गांव और शहरों में क्वारंटाइन में रहने के लिए सार्वजनिक स्थल चिन्हित किये गए हैं। ग्राम पंचायत और नगरीय निकायों को इनके रख-रखाव एवं मूलभूत सुविधाएं बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर आने के बाद  बाहर कमाने -खाने गये लोग बड़ी संख्या में  लौटने लगे हैं। देखा जा रहा है कि इनमें से अधिकांश लोग  बिना कोरोना जांच और क्वारंटाइन अवधि में समय बिताये अपने-अपने गांव-घर में पहुंच जा रहे हैं। इससे अन्य लोगों में संक्रमण का खतरा और बढ़ रहा है। उन्होंने क्वारंटाइन सेन्टरों पर एक सप्ताह की अवधि बिताने और कोरोना जांच के बाद ही उन्हें गांव के भीतर प्रवेश देने के सख्त निर्देश दिए हैं। जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को ग्राम पंचायत एवं कोटवारों के सहयोग से इस निर्देश का कड़ाई से पालन करने को कहा गया है। निर्देश के पालन में किसी भी स्तर पर गफलत हुई तो महामारी एक्ट की धाराएं लगाकर सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने जिला पंचायत के सीईओ को क्वारंटाइन में रहने वाले लोगों की सुविधाओं का ख्याल रखने को भी कहा है। जिला सीईओ प्रतिदिन क्वारंटाइन सेन्टरों की ढ रिपोर्टिंग जिला प्रशासन को करेंगे। कलेक्टर ने सम्बन्धित राजस्व अनुविभाग के एसडीएम सह इंसिडेंट कमांडरों और तहसीलदारों को भी नियमित मॉनिटरिंग करने कहा है

Share this story