कोविड कर्फ्यू की एसओपी में संशोधन, अब ये दुकानें भी सप्ताह में दो दिन खुलेंगी
कोविड कर्फ्यू की एसओपी में संशोधन, अब ये दुकानें भी सप्ताह में दो दिन खुलेंगी

देहरादून। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश में लागू कोविड कर्फ्यू में सरकार ने थोड़ी और राहत दी है। इसके तहत खाद्य पैकेजिंग समेत 20 व्यवसायों से संबंधित दुकानों को अब आठ व 11 जून को सुबह आठ से दोपहर एक बजे तक खोलने की छूट दी गई है। इसके अलावा व्यापारियों की सुविधा के मद्देनजर गोदामों में चौबीस घंटे माल वाहक वाहनों से सामान की लोडिंग, अनलोडिंग की अनुमति दी गई है। अभी तक इसके लिए सिर्फ रात का समय ही नियत था। इस संबंध में शासन ने एसओपी में संशोधन के आदेश भी जारी कर दिए हैं।

सरकार ने बीते रोज राज्य में लागू कोविड कर्फ्यू को कुछ रियायत के साथ 15 जून तक बढ़ाने का निर्णय लिया। इसके तहत खाद्य पैकेजिंग, कपड़ा, रेडीमेड (एकल रूप में), दर्ज, ड्राईक्लीनर्स, चश्मे, साइकिल स्टोर, औद्योगिक मशीनरी, मोटर पाट्र्स की दुकानें 11 जून को सुबह आठ से दोपहर एक बजे तक खोलने की छूट दी गई थी। अब यह दुकानें आठ व 11 जून को खोलने की अनुमति दी गई है। अब इन्हीं दो दिन में क्राकरी (बर्तन), हौजरी, इलेक्ट्रानिक्स, इलेक्ट्रिकल्स एवं इलेक्ट्रानिक पाट्र्स, कंप्यूटर हार्डवेयर एवं साफ्टवेयर, वेब डिजाइनिंग, हार्डवेयर पेंट्स व सैनिटरी, स्टोन, कारपेंटर्स, फर्नीचर व टिंबर मर्चेंट की दुकानें भी खुलेंगी। प्रदेशभर में बाजार खोलने की मांग को लेकर व्यापारी प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

इससे पहले रविवार को जारी एसओपी के में परचून और स्टेशनरी व पुस्तकों की दुकानें भी पिछले हफ्ते की तरह ही सप्ताह दो दिन खुलेंगी, जबकि खाद्य पैकजिंग, रेडीमेड कपड़े, दर्जी, चश्मे, साइकिल स्टोर, औद्योगिक मशीनरी, मोटर पार्ट्स, ड्राइक्लीनर्स, फोटोकापी, टिंबर मर्चेंट की दुकानें एक दिन और शराब की दुकानें तीन दिन खोलने का निर्णय लिया गया है। इन सभी दुकानों के लिए निर्धारित तिथियों पर खुलने का समय सुबह आठ से दोपहर एक बजे रखा गया है।

आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुलने का समय भी अब सुबह आठ से 12 बजे कर दिया गया है। पहले यह दुकानें सुबह आठ से 11 बजे तक खुल रही थीं। सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की स्थिति का आकलन कर आवश्यकतानुसार कर्फ्यू में शिथिलता देने के लिए जिलाधिकारियों को अधिकृत किया है। अंतर राज्यीय सार्वजनिक परिवहन में दो तिहाई क्षमता के साथ वाहन संचालन की अनुमति होगी।

इससे पहले सोमवार को व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडल ने सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल से मुलाकात कर कर्फ्यू में कुछ और छूट देने का आग्रह किया। सरकार के प्रवक्ता उनियाल ने सुझावों पर विचार करने का आश्वासन दिया। इसके बाद सरकार ने थोड़ी और रियायत दे दी। कैबिनेट मंत्री उनियाल ने कहा कि वर्तमान में पहली प्राथमिकता कोविड से जनसामान्य को बचाने की है।

कोविड कफ्र्यू से कोरोना संक्रमण पर अंकुश लगा है। संक्रमण के मामले पांच सौ की जद में हैं, जो आशानुरूप हैं। बावजूद इसके ज्यादा सुकून की बात नहीं है। उन्होंने कहा कि गत वर्ष जब लाकडाउन हुआ था, तब देश में 543 मामले ही थे। उन्होंने कहा कि इस वक्त अधिक सजग और सतर्क रहने की जरूरत है।

Share this story