अगर कोई कांवड़िया उत्तराखंड में आता है तो पुलिस कार्रवाई करने के निर्देश
s

Kanwar Yatra 2021: सावन के महीने में हर साल होने वाली कांवड़ यात्रा कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर उत्तराखंड में लगातार दूसरे साल भी नहीं हो पायेगी. 25 जुलाई से शुरू होने वाली कांवड़ यात्रा को कोरोना महामारी के कारण उत्तराखंड सरकार ने स्थगित करने का फैसला लिया है. मुख्यमंत्री ने सचिव गृह और पुलिस महानिदेशक को यथोचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्यों के अधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए प्रभावी कार्रवाई हेतु अनुरोध किया जाय ताकि वैश्विक महामारी को रोकने में सफल हो सकें.

मुख्यमंत्री द्बारा पुलिस और प्रशासन की हाई लेवल मीटिंग के बाद उत्तराखंड पुलिस एक्टिव मोड में नजर आ रही है. पुलिस ने राज्य की सीमाओं पर चाक चौबंद व्यवस्था शुरू कर दी है. सीमाओं पर विशेष निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं. अगर कोई कांवड़िया उत्तराखंड में आता है तो पुलिस की ओर सख्ती बरतते हुए कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए गए हैं.

 

उत्तराखंड आने वाले सभी वाहनों की चेकिंग की जा रही है

 

इसके अलावा उत्तराखंड आने वाले सभी वाहनों की चेकिंग की जा रही है. पुलिस राज्य में आने वाले सभी पर्यटकों से आने की वजह पूछ रही है. जाहिर है सरकार की ओर से छूट दिए जाने के बाद बड़ी संख्या में यात्री उत्तराखंड की ओर रुख कर रहे हैं. पर्यटकों के पास आरटीपीसीआर रिपोर्ट का नेगेटिव प्रमाण पत्र लाना अनिवार्य है. यदि नेगेटिव प्रमाण पत्र नहीं है या पॉजिटिव है तो फिर पुलिस प्रदेश की सीमा में नहीं घुसने दे रही. इसके साथ ही सैलानियों को जिस होटल में बुकिंग की गयी है उसका प्रमाण भी दिखाना जरूरी है.

Share this story