प्रयागराज पुलिस ने कार चोरों के शातिर गिरोह का किया पर्दाफाश
s

प्रयागराज पुलिस ने कार चोरों के ऐसे शातिर गिरोह का पर्दाफाश किया है जो इलेक्ट्रानिक डिवाइस का इस्तेमाल कर लग्जरी गाड़ियों को चुटकी बजा कर गायब कर देते थे. गैंग के लोग कार का शीशा तोड़ने के बजाय टेप लगाकर उसे काट देते थे. इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस और टैबलेट के जरिये कारों में लगे सेंसर को डिएक्टिवेट कर देते थे और नई कोडिंग करने के बाद मास्टर की से गाड़ियों को स्टार्ट कर उन्हें उड़ा ले जाते थे. कार चोरों का यह हाईटेक गिरोह यूपी के साथ ही देश के कई अन्य राज्यों में भी इसी अंदाज़ में कार चोरी की घटनाओं को अंजाम देता था.

पुलिस ने इनके पास से 6 लग्जरी गाड़ियां बरामद की हैं. इन कारों की कीमत तकरीबन डेढ़ करोड़ रूपये है. इसके साथ ही भारी मात्रा में इलेक्ट्रानिक उपकरण, डिवाइस व फर्जी दस्तावेज भी बरामद किये हैं. पुलिस ने सरगना समेत पांच लोगों को गिरफ्तार भी किया है. प्रयागराज के एसपी क्राइम आशुतोष मिश्र के मुताबिक पकड़े गए पांचों आरोपी बिहार के अलग-अलग जिलों के रहने वाले हैं. गिरोह के लोग फर्जी तरीके से गाड़ियों के कागजात भी बनवा देते थे.

 

नेपाल तक फैला था जाल
इस गिरोह के लोग पैसे कमाने की इतनी जल्दबाजी में होते थे कि कई बार चोरी की गई अच्छी कंडीशन की फॉर्च्यूनर कार तक को चार लाख रूपये में बेच देते थे. प्रयागराज पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने इन बदमाशों को उस वक़्त गिरफ्तार किया, जब यह शहर के बेली इलाके में चोरी की आधा दर्जन लग्जरी गाड़ियों का सौदा करने जा रहे थे. एसपी क्राइम आशुतोष मिश्र के मुताबिक इसी गिरोह के पांच सदस्यों को 30 जून को पकड़ा गया था. इनके बाकी साथियों की तलाश भी की जा रही है. इस गिरोह का नेटवर्क देश के अलग-अलग हिस्सों के साथ ही नेपाल तक भी फैला हुआ था.

Share this story