इस खिलाड़ी को था धोनी की काबिलियत पर शक, कहा- माही को नहीं आती थी बैटिंग
इस खिलाड़ी को था धोनी की काबिलियत पर शक, कहा- माही को नहीं आती थी बैटिंग

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी को दुनिया के बेहतरीन फिनिशर में गिना जाता है। इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी करने वाले इस धुरंधर का लोहा सभी मानते हैं। उनका सहज स्वभाव युवाओँ को बहुत ज्यादा प्रेरित करता है। धौनी के साथ सीएसके टीम का हिस्सा रह चुके साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज एनरिच नॉर्खिया ने अपना अनुभव साझा किया है।

इस प्रोटियाज गेंदबाज ने बताया कि उनको जब टीम में शामिल किया गया और पहली बार नेट्स में धौनी के सामने गेंदबाजी का मौका मिला तो कैसा महसूस हुआ। नॉर्खिया ने बताया कि वह उस वक्त कम उम्र के थे और टीम में नए भी। इसी वजह से धौनी ने उनके साथ बहुत ही सहज व्यवहार किया। उनकी गेंद पर ज्यादा आक्रामक शॉट नहीं लगाए, बल्कि ऐसे खेला मानो बल्लेबाजी ही नहीं आती हो।

नॉर्खिया ने कहा, "मैं तब उतना बड़ा नहीं था इसी वजहसे किसी से भी नहीं उतना डरता नहीं था। उम्र कम होने की वजह से मैं उस वक्त उतनी तेजी से गेंद भी नहीं डालता था। मुझे याद है नेट्स में एमएस धौनी को गेंदबाजी कर रहा था। उनको देखकर ऐसा लग नहीं रहा था कि वह ईमानदारी से बल्लेबाजी कर रहे हों। उन्होंने खड़े-खड़े कुछ शॉट लगाए ना कि वैसे पैरों का इस्तेमाल करके जैसा कि वो करते थे। इसके बाद वह बहुत ही बेहतरीन इंसान नजर आए, हर किसी के साथ वह वैसे ही थे, बिना उनके यह अहसास दिए के वो क्या हैं।"

"मैं झूठ नहीं बोलूंगा। मुझे तो ऐसा भी लगा था कि उनको शायद बल्लेबाजी करनी ही नहीं आती है। नेट्स में सभी को ऐसे आसपास देखकर बहुत ही अच्छा-सा माहौल नजर आया, एक नए खिलाड़ी को ढलने के लिए। नेट्स में सभी बस गेंद को रोक रहे थे और आंखें जमाने का प्रयास कर रहे थे।"

Share this story