कौन साबित हो सकता है भारत के लिए WTC फाइनल में मैच विनर? मोंटी पनेसर ने दी अपनी राय

कौन साबित हो सकता है भारत के लिए WTC फाइनल में मैच विनर? मोंटी पनेसर ने दी अपनी राय

नई दिल्ली। आइसीसी वर्ल्ट टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल को लेकर इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर जमकर अपनी राय दे रहे हैं। अब उन्होंने दोनों टीमों की खिताबी जीत के अवसर को लेकर बात की और कहा कि, न्यूजीलैंड की टीम ने अपने खेल से प्रभावित किया है और वो भारत को कड़ी टक्कर देगी। एएनआइ से बात करते हुए पनेसर ने कहा कि, न्यूजीलैंड की टीम दमदार है और इस टीम के बल्लेबाज कॉनवे ने शानदार प्रदर्शन इंग्लैंड के खिलाफ किया है। इसके अलावा कीवी टीम में कुछ अच्छे बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं। इन बल्लेबाजों को देखते हुए भारतीय टीम की तरफ से बतौर स्पिनर आर अश्विन ही होंगे। 

पनेसर ने कहा कि, मैंने जैसा सोचा था न्यूजीलैंड की टीम उससे बेहतर खेल रही है। मेरे हिसाब से फाइनल मैच काफी रोमांचक होने वाला है और भारत के लिए ये मुकाबला आसान तो बिल्कुल भी नहीं दिख रहा है। दोनों टीमें बराबरी की दिख रही हैं तो वो दो खिलाड़ी कौन-कौन होंगे जो अपनी टीम की जीत में अहम भूमिका निभाएंगे। पनेसर ने कहा कि, न्यूजीलैंड की तरफ से इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में 6 विकेट लेने वाले टिम साउथी भारत के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकते हैं।

वहीं उन्होंने भारत की तरफ से आर अश्विन का चयन किया जो न्यूजीलैंड के लिए सबसे बड़ा खतरा बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि, इंग्लैंड में जिस तरह का मौमस है और कीवी टीम में कई बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं ऐसे में अश्विन भारत के लिए मैच विनर बन सकते हैं। दोनों टीमों के बीच अश्विन बड़ा फर्क बन सकते हैं। आर अश्विन टेस्ट क्रिकेट में अब तक सबसे ज्यादा बाएं हाथ के बल्लेबाजों को आउट करने में पहले नंबर पर हैं ऐसे में कीवी टीम के बाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं।

पनेसर ने आगे कहा कि, अगर अश्विन ने बाएं हाथ के बल्‍लेबाजों को सस्‍ते में आउट किया तो न्‍यूजीलैंड मुश्किल में रहेगी। अगर अश्विन ऐसा नहीं कर सके तो तेज गेंदबाजों पर ज्‍यादा दबाव बन जाएगा। अगर उन्‍होंने अपने देश के समान यहां प्रदर्शन किया तो भारत मजबूत स्थिति में होगा। यहां का मौसम शानदार है और मेरे ख्‍याल से विकेट से टर्न मिलने की उम्‍मीद है। भारत को ऐसे में दो स्पिनर्स के साथ खेलना चाहिए। विराट कोहली भी रविंद्र जडेजा को जरूर अंतिम ग्यारह में शामिल करना चाहेंगे। 

Share this story