आखिर कब होगा हरदोई जनपद,के गॉव मे सैनेटाइजर जनता मांग रही है जबाव

आखिर कब होगा हरदोई जनपद,के गॉव मे सैनेटाइजर जनता मांग रही है जबाव

मोहित गुप्ता की रिपोर्ट

हरदोई, जनपद की राजधानी लखनऊ मे ही हो सकता है पूरी तरहे से सेनेटाइज क्यो की यही पर लोग रहते है बाकि जनपदों मे तो कोरोना से दोस्ती करने को तैयार है लोग क्योकी लखनऊ मे मंत्री, संत्री,वी आई पी बड़े उद्योग पति रहते है वहा को  सेनेटाइज करना जरूरी है आखिर जनता और भी जनपदों मे रहती है उनका ख्याल सरकार का कर्तव्य नहीं है

हरदोई जनपदों मे बहुत से क्षेत्र ऐसे है जहाँ सेनेटाइजर का सिर्फ नाम ही सुना है आज तक नहीं देखा नहीं अगर हुआ भी  है तो सिर्फ जनपद के एक आद मोहल्ले मे सिर्फ और अगर देखा तो  जनता ने अपने परिवार की परेशानिओ से जूझते और अपनों से दूर होने का गम  कब तक देश मे घोटाला का आलम चलता रहेगा जनता से मंत्री है मंत्री से जनता नहीं सरकारे जनता से चलती है और यहां हाल है की सरकार जनता को ही हर तरहे से मुर्गा बना रही है सरकार को ये नहीं समझ मे आता है की उत्तरप्रदेश मे सिर्फ लखनऊ ही एक ऐसा शहर है जहाँ लोग रहते है और बाकि लगभग 75 जनपद है वहा सरकार की आँखे बंद है क्या सभी जनपदों मे सैनेटाइजर नहीं होना चाहिए सभी तहसीलों मे नहीं होना चाहिए

वोट तो सिर्फ लखनऊ की जनता से मिलता है लखनऊ मे भी उन जगहों पर सैनेटाइज किया जा रहा है जहाँ पर वी आई पी या सभी दल के नेता रहते है उन जगहों पर नहीं जहाँ पर गरीब लोग जुग्गी झोपडी मे  रहते है वहा तक तो इन लोगो के हाथ पहुंचते है नहीं बस हाथ अगर पहुंचते है तो सिर्फ वोट मांगते समय कोरोना बीमारी तो इंडिया के सभी राज्यों मे फैली हुई है जहाँ सभी हॉस्पिटल मरीजों से भरे पड़े है ऐसा ही क्यो  जनपद हो जहाँ 50 या 100 लोग रोजाना ना मरते हो यहां पर सभी की आँखे बंद है हरदोई जनपद की जनता जबाव चाहती है वो कौन देगा कौन सा शख्स जनता का जवाब देगा कौन है जो इस विपदा मे जनता के साथ खड़ा होगा रैली नहीं जनता को कोरोना से मुक्ति चाहिए जनता को रोजगार चाहिए हरदोई जनपद की जनता की आखिर कब होंगी जय जय कार कब लेगी चेन की सांस

Share this story