मेहंदी का रंग उतारने से पहले ही विधवा हो गयी प्रेमिका से पत्नी बनी सुनीता।
मेहंदी का रंग उतारने से पहले ही विधवा हो गयी प्रेमिका से पत्नी बनी सुनीता।

अमर नाथ की रिपोर्ट
अयोध्या/उत्तर प्रदेश

 10 मई को प्रेमी ह्रदयराम की दुल्हन बन उसके घर आयी थी सुनीता , दोनों ने 26 दिन पहले किया था प्रेम विवाह 10 मई 2021 सुनीता और ह्र्दयराम के लिए उनकी जिंदगी का सबसे खूबसूरत दिन था क्योंकि आज वर्षों से एक दूसरे के साथ जीने मरने की कसमें खाने वाले यह दोनों प्रेमी युगल प्रेमी प्रेमिका से पति पत्नी बन गए थे । विधि के विधान से अनभिज्ञ दोनों बहुत खुश थे , उन्हें नहीं पता था कि जन्मों जन्मों तक एक दूसरे का साथ निभाने का वादा करनें वाले यह युगल एक माह भी एक दूसरे का साथ नहीं रह पाएंगे । एक अनहोनी घटना ने शादी से मात्र 26वें दिन ही ह्र्दयराम को सुनीता से छीन लिया ।

 मामला अयोध्या जनपद के खंडासा थाना क्षेत्र अंतर्गत कंदई कला चौकी के कंदई कला गांव के पूरे अंकौरा का है , जहां 10 मई को ग्रामवासी हदय राम का विवाह सुनीता के साथ धूमधाम से सम्पन्न हुआ । लेकिन ईश्वर को इनका ज्यादा दिन तक साथ रहना मंजूर नहीं था अतः रविवार 6 जून की रात 10 बजे हृदय राम और उसके भाई  दया राम के बीच शराब के नशे में मामूली विवाद हो गया जिससे ह्र्दयराम घर के आंगन में लगे नल की फर्श पर गिर गया और उसके नाक और मुंह से खून आने । ह्र्दयराम के मुँह व नाक से खून आता देख परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल भागे परन्तु वहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया । वहीं डायल 112 पर शिकायत के बाद क्षेत्राधिकारी मिल्कीपुर थानाध्यक्ष खंडासा व थानाध्यक्ष रौनाही ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जांच पड़ताल की , थानाध्यक्ष खंडासा नीरज सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है तथा मामले में विधिक कार्यवाही की जा रही है ।

मृतक की पत्नी सुनीता ने बताया कि मृतक हृदय राम से उसने प्रेम विवाह किया था और वह पिछले 10 मई को हदयराम के घर आई थी उसने कहा की हृदय राम के छोटे भाई दयाराम रात 10 बजे के करीब किसी बात को लेकर उसके पति से उलझ गए और उसके कपड़ों को पकड़ कर उससे तू तू मैं मैं करने लगे परिजनों ने जब दोनों को छुडाया तब दयाराम ने ह्र्दयराम को धक्का दे दिया जिससे वह फर्श पर गिर गए जिससे उनके नाक और मुंह से खून आने लगा और उनका शरीर ठंडा पड़ने लगा तभी आनन-फानन में परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुचें जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया । वहीं दूसरी ओर मृतक हृदय राम की माँ का कहना है कि मृतक शराबी किस्म का था और अक्सर झगड़ा किया करता था वह टीवी का मरीज भी था और अचानक गिरने के कारण उसकी मौत हुई है । अब देखना यह होगा कि अपने एक पुत्र को खो चुकी बुजुर्ग महिला की बात कानून मानता है या मृतक की पत्नी सुनीता के बयान के आधार पर बुजुर्ग माँ का एकमात्र सहारा उसके छोटे बेटे दयाराम के ऊपर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा पंजीकृत कर माँ को एकदम बेसहारा कर देता है ।

Share this story