लविवि में कोरोना संक्रमण ने ली 40 शिक्षकों और कर्मचारियों की जान

लविवि में कोरोना संक्रमण ने ली 40 शिक्षकों और कर्मचारियों की जान

लखनऊ : पद्मश्री प्रोफेसर ब्रजेश शुक्ला, प्रो. केसी पाण्डेय, प्रो. एके कालिया, डॉ. योगेश प्रवीण ... ये वो नाम हैं, जिनसे लखनऊ विश्वविद्यालय और लखनऊ की पहचान थी. संस्कृत, दर्शनशास्त्र जैसे विषयों के प्रगाढ़ विद्वान लखनऊ विश्वविद्यालय के इन नगीनों को कोविड-19 ने हमसे छीन लिया है. सिर्फ यही नहीं, पिछले कुछ समय में सिर्फ लखनऊ विश्वविद्यालय और उससे जुड़े महाविद्यालयों के 40 शिक्षकों और कर्मचारियों ने अपनी जान गंवाई है. लखनऊ विश्वविद्यालय सहयुक्त महाविद्यालय शिक्षक संघ की तरफ से ये आंकड़े जारी किए गए हैं. आशंका यह भी जताई जा रही है कि इस सूची में कुछ और नाम भी शामिल हैं.

सिर्फ एलयू में 25 से ज्यादा मौतें

अप्रैल का महीना लखनऊ विश्वविद्यालय और यहां के शिक्षक व कर्मचारियों के लिए काफी भारी साबित हुआ है. एलयू शिक्षक संघ के पूर्व अध्यक्ष डॉ. नीरज जैन बताते हैं कि करीब 11 शिक्षकों का निधन हो गया. इनमें अपने विषयों के पुरोधा कहे जाने वाले कला संकाय के संकायाध्यक्ष प्रो. ब्रजेश शुक्ला, दर्शनशास्त्र के प्रो. केसी पाण्डेय, संस्कृत विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष व संपूर्णानंद विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. अशोक कुमार कालिया, प्रो. पीएस चंदेल, डॉ. अजय सिंह, प्रो. टीएन सिंह, डॉ. फराही जैसे कई नाम शामिल हैं. इसमें कई सेवानिवृत्त शिक्षक भी शामिल हैं.

कॉलेजों को भी लगा है बड़ा झटका

लखनऊ विश्वविद्यालय सहयुक्त महाविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉ. मनोज पाण्डेय कहते हैं कि महाविद्यालयों के करीब 14 शिक्षकों और कर्मचारियों का निधन हो गया है. इस क्षति की भरपाई नहीं हैं. इसमें दो सेल्फफाइनेंस शिक्षक भी हैं. इनके लिए कोई व्यवस्था नहीं है. संगठन ने सरकार से इनके लिए आर्थिक मदद की मांग उठाई है.

अब तो एलयू परिसर में करें व्यवस्था

एलयू शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉ. विनीत वर्मा का कहना है कि इनती क्षति के बाद भी विश्वविद्यालय प्रशासन के स्तर पर कोई सबक नहीं लिया जा रहा है. विश्वविद्यालय के पास अपनी डिस्पेंसिरी है. कम से कम वहां अति आवश्यक दवाएं, ऑक्सीजन सिलेंडर और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं.

जीवन के सफर में छोड़कर चले गए यह साथी:

लखनऊ विश्वविद्यालय

  1. प्रोफेसर ए के शर्मा
  2. पद्मश्री प्रोफेसर ब्रजेश शुक्ला
  3. प्रोफेसर के सी पांडेय
  4. प्रोफेसर ए के कालिया
  5. प्रोफेसर पी एस चंदेल
  6. डॉ. अजय सिंह
  7. प्रोफेसर टी एन सिंह
  8. डॉ. फराही

महाविद्यालय:

  1. डॉ. अनिल त्रिपाठीः श्री जयनारायण पीजी कॉलेज
  2. डॉ. जरीना रहमतः करामत हुसैन गर्ल्स डिग्री कॉलेज
  3. डॉ. अजहरः इस्लामिया डिग्री कॉलेज
  4. डॉ. विमला सिंहः लखनऊ क्रिश्चियन ट्रेनिंग कॉलेज
  5. डॉ. शहनाजः मुमताज डिग्री कॉलेज
  6. डॉ. बी एल मिश्राः केकेसी
  7. डॉ. हरीश पालः केकेवी के केमेस्ट्री विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर
  8. डॉ. मदन लालः डीएवी में विधि विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष
  9. डॉ. आशीष रायः शिया पीजी कॉलेज में कम्प्यूटर साइंस के असिस्टेंट प्रोफेसर
  10. डॉ. नजमी नियाज जैदीः शिया पीजी कॉलेज
  11. डॉ. पी एन सिन्हाः डीएवी कॉलेज
  12. डॉ. रामविलासः डीएसएन उन्नाव
  13. डॉ वीना गुप्ताः लखीमपुर खीरी
  14. पद्मश्री योगेश प्रवीनः विद्यांत हिन्दू पीजी कॉलेज

ऐसे शिक्षक-शिक्षिकाएं जिनके पति या पत्नी की मृत्यु कोरोना से हुई:

  1. डॉ. अब्दुर रहीम जी की पत्नी
  2. डॉ. मंजू गुप्ता के पति
  3. डॉ. रीता तिवारी के पति
  4. डॉ. नीतू सिंह के पति

लखनऊ विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों के तृतीय श्रेणी एवं चतुर्थ श्रेणी के 15 से अधिक कर्मचारियों की कोरोना से मौत हो गई है. उनके नाम हैं:

  1. परीक्षा विभाग के योगेश श्रीवास्तव
  2. सहायक कुलसचिव के पद से सेवानिवृत्त एबी सिंह
  3. जूलॉजी के लैब सहायक घनश्याम
  4. समाजकार्य विभाग के ड्राइवर इश्तियाक
  5. नवीन परिसर के सुनील व गौतम
  6. ज्योर्तिविज्ञान विभाग के कर्मचारी भूपेन्द्र भारती

Share this story