प्रभारी जिला पंचायत सीईओ ने क्वाराईटिंन सेंटरों का लिया जायजा
प्रभारी जिला पंचायत सीईओ ने क्वाराईटिंन सेंटरों का लिया जायजा

जागेशवर प्रसाद वर्मा कि रिपोर्ट

बलौदाबाजार,जिलें में बढ़ते हुए संक्रमण को देखतें हुए राज्य शासन के निर्देश पर जिला स्तर में कोरोना ने निपटने हेतु युद्ध स्तर में तैयारी की जा रही है। एक और जहाँ स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। वहीं दूसरी और अन्य राज्यों से घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों के लिए पुनः एक बार फिर क्वाराईटिंन सेंटर तैयार किए जा रहें है।

इस सिलसिले में आज प्रभारी जिला पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान ने विभिन्न क्वाराईटिंन सेंटरों का जायजा लिया। सीईओ हरिशंकर चौहान ने बताया की जिले के 6 जनपदों में 844 क्वाराईटिंन सेंटर बनाये गये है। जिसमें जनपद पंचायत बालौदाबाजार में 106,भाटापारा में 108,बिलाईगढ़ 220, कसडोल 180, पलारी125 एवं सिमगा में 105 क्वाराईटिंन सेंटर बनाये गये है। जिसकी प्रारंभिक तैयारी पूरी कर ली गयी है। इसके लिए गाँवो में स्थित शासकीय स्कूलों का भवन, समाजिक भवनों का चयन कर सरपंच सचिवों को निर्देश जारी कर दिया गया है।

इन सेंटरो में अन्य राज्यों से आये हुए प्रवासी मजदूरों को 14 दिनों के लिए क्वाराईटिंन करनें की तैयारी कर ली गई है। ताकि संक्रमण की स्थिती में गावों में संक्रमण ना फैल सकें। श्री चौहान ने आगें बताया कि अभी तक जिले में कुल 272 लोग अन्य राज्यों से प्रवासी श्रमिकों के रूप में आए है। जिनका विधवत पंजीयन किया गया हैं। जिसमें जनपद पंचायत बालौदाबाजार में 35,भाटापारा में 46,बिलाईगढ़ 29, कसडोल 46, पलारी 28 एवं सिमगा में 88 मजदूर शामिल हैं। जिसमें से 19 मजदूर संक्रमित पाये गये है। संक्रमित मजदूरों को  लक्षण के आधार पर कुछ को कोविड केयर सेंटर एवं कुछ को क्वाराईटिंन सेंटर भेजा गया हैं। इसमें से अधिकांश मजदूर उत्तरप्रदेश, दिल्ली,एवं जम्मू कश्मीर सहित अन्य राज्यों से आये है। जिले में वापस लौटकर आये प्रवासी मजदूरों के लिए जिले के बॉर्डर एवं रेल्वे स्टैंड भाटापारा में कोविड का टेस्ट सेंटर बनाया गया है। जहां पर आने वाले सभी यात्रियों का नियमित एवं अनिवार्य रूप से टेस्टिंग की जा रहीं है।

Share this story