जिम्मेदारों की बेपरवाही से करोड़ों की पेयजल योजना को लग रहा ग्रहण
जिम्मेदारों की बेपरवाही से करोड़ों की पेयजल योजना को लग रहा ग्रहण

राजर्षि मिश्रा

जगह जगह फूटे पाइप सप्लाई लाइन में गंदगी प्रवेश करने से संक्रमण का खतरा व्याप्त। (मानपुर/उमरिया)मानपुर सहित क्षेत्र के 2 दर्जन से भी ज्यादा ग्रामों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति हेतु करोड़ों रुपए की लागत से मध्य प्रदेश जल बोर्ड निगम द्वारा निर्माणकर्ता कंपनी जिंदल वाटर इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के द्वारा मानपुर के बैगांव में शुद्ध पेयजल/सोन जल परियोजना का बृहद प्लांट स्थापित किया गया था

जिसका लक्ष्य क्षेत्र के 2 दर्जन से भी अधिक ग्रामों में लोगों के घरों तक फिल्टर्ड वाटर पहुंचाने का था वह अपने लक्ष्य के विरुद्ध महज एक दर्जन ग्रामों के ग्रामीणों तक पेयजल की आपूर्ति में ही थोथा साबित हुआ और मानपुर मुख्यालय सहित प्रत्येक ग्रामों में इसकी मेंन लाइन और सप्लाई लाइन जगह जगह पर फूटी हुई है कहीं नालियों का गंदा पानी तो कहीं सड़े हुए कूड़े के ढेर की गंदगी इसमें प्रवेश कर रही है जिससे कि संक्रमण का खतरा लगातार बना हुआ है और लोगों को पीने तक का पानी नसीब नहीं हो पा रहा वहीं प्रतिदिन हजारों लीटर पानी व्यर्थ में सड़कों और नालियों पर बहकर बर्बाद हो रहा इतना ही नहीं कभी बिजली के अभाव में तो कभी जिम्मेदारों की गैरजिम्मेदारी की वजह से उक्त जल प्रदाय परियोजना ठप्प पड़ जाती है और लोग एक-एक बूंद पानी के लिए त्राहिमाम करते नजर आते हैं। वहीं आए दिन नगर की स्थानीय पेयजल परियोजना का मोटर पंप अथवा गेट खराब हो जाता है

वह अलग,जिससे लोगों के सामने जल संकट उत्पन्न हो जाता है यह भी बता दें कि आधे मानपुर में इस जिंदल परियोजना का कनेक्शन है तो आधे में नहीं यह भी यहां के रहवासियों के लिए एक बड़ी परेशानी का सबब है इस हेतु स्थानीय विधायक एवं मंत्री तक से लोगों ने फरियाद की लेकिन आश्वासन के अतिरिक्त और कुछ नहीं हाथ लग सका और नगर में पेयजल संकट जस का तस बरकरार है। जब अभी यह आलम है तो आगे आने वाली भीषण गर्मी में जब वाटर लेवल नीचे चला जाएगा तब क्या होगा क्या शासन ने इसीलिए करोड़ों रुपए बर्बाद किए थे कि यह बृहद सोन जल परियोजना जिम्मेदारों की बेपरवाही की भेंट चढ़ जाए और लोगों को पीने तक का पानी नसीब ना हो पाए लोगों ने नवागत मुख्य नगरपालिका अधिकारी नगर परिषद मानपुर से उक्त मामले में संज्ञान लेकर नगर क्षेत्र में व्याप्त इस जल संकट से निजात दिलाने की मांग प्रशासन से की है।

Share this story