प्रयागराज के व्यापारी का अपहरण नहीं उसे STF ने किया था गिरफ्तार

प्रयागराज के व्यापारी का अपहरण नहीं उसे STF ने किया था गिरफ्तार

राम कैलाश पटेल की रिपोर्ट


प्रयागराज/प्रतापगढ़। उत्तर प्रदेश में प्रयागराज के नैनी के व्यापारी राजकुमार जायसवाल का 8 जून 2021 की रात अपहरण नहीं हुआ था बल्कि उसे यूपी एसटीएफ की टीम ने गिरफ्तार किया था। व्यापारी राजकुमार जायसवाल के घर वालों ने 8 जून 2021 की रात नैनी पुलिस चौकी पर राजकुमार का अपहरण होने की जानकारी दी थी।

पुलिस ने छानबीन की तो पाया गया कि राजकुमार जायसवाल मिलावटी पेट्रोल डीजल की तस्करी करने वाले गैंग का सरगना है। वर्ष 2000 में भी वह नैनी थाने से जेल भेजा जा चुका है। तत्कालीन मजिस्ट्रेट बादल चटर्जी के समय में इस तरह के अवैध कारोबार में नैनी से उसे जेल भेजा गया था। बादल चटर्जी के जाने के बाद किसी ने राजकुमार जायसवाल पर हाथ डालने की हिम्मत नहीं जुटाई थी।

सोशल मीडिया में खबर वायरल हो रही थी कि राजकुमार जायसवाल अपहरण हो गया है। इस मामले में नैनी पुलिस ने स्पष्ट किया है कि 8 जून 2021 की रात्रि प्रतापगढ़ जिले के फतनपुर थाना क्षेत्र के सेनापुर में स्थित विंध्यवासिनी ऑटोमोबाइल्स में केमिकल को पेट्रोल मिलाया जा रहा था।

उक्त पेट्रोल पंप पर उतारते हुए मय एक टैंकर केमिकल नकली डीजल/पेट्रोल के साथ मौके से एसटीएफ की फील्ड इकाई प्रयागराज ने चार अभियुक्तों को मय 12000 लीटर तेल केमिकल भरे टैंकर यूपी 70 बीटी 2065 के साथ कालाबाजारी के मुख्य सरगना राजकुमार जायसवाल को वैगनआर के साथ गिरफ्तार किया गया।
गिरफ्तार चारों अभियुक्त
राजकुमार जायसवाल पुत्र फूलचंद जायसवाल निवासी सीओडी रोड संजय नगर थाना नैनी प्रयागराज
विपिन मिश्रा पुत्र गिरिवरधर मिश्रा निवासी शेखपुर थाना पट्टी प्रतापगढ़
अंकित शर्मा पुत्र शंभू नाथ शर्मा निवासी गुड़रु रामपुर थाना मांधाता जनपद प्रतापगढ़
बरमदीन पुत्र किलोधर कुशवाहा निवासी मुंगारी थाना औद्योगिक क्षेत्र प्रयागराज
चारों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर एसटीएफ द्वारा थाना फतनपुर जनपद प्रतापगढ़ में दाखिल किया गया। जिला पूर्ति विभाग द्वारा उक्त पेट्रोल पंप को सीज किया गया। अग्रिम विधिक कार्यवाही थाना फतनपुर पुलिस द्वारा की जा रही है।

Share this story