कोरोना से लड़ने के लिए लोगों में मास्क लगाने,सामाजिक दूरी बनाए रखने की डलवाई जाए आदत
कोरोना से लड़ने के लिए लोगों में मास्क लगाने,सामाजिक दूरी बनाए रखने की डलवाई जाए आदत

मोहन प्रसाद यादव
अनूपपुर

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप पर नियंत्रण के लिए यह आवष्यक है कि लोगों में रोजमर्रा की दिनचर्या में मास्क लगाए रखने और सामाजिक दूरी बनाए रखने की आदत डलवाई जाए। इस कार्य में मैदानी अमले का भरपूर सहयोग लिया जाए। मास्क ना लगाने वालों पर जुर्माना लगाया जाए। ये निर्देष कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु यहां जिला चिकित्सालय में सम्पन्न हुई विभिन्न अधिकारियों की बैठक में कलेक्टर श्री चन्द्रमोहन ठाकुर ने अधिकारियों को दिए। बैठक में अपर कलेक्टर श्री सरोधन सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री मिलिन्द कुमार नागदेवे, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एस.सी. राय, जिले के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं तहसीलदार, कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री एस.के. सालवे, जिले के खण्ड चिकित्सा अधिकारी समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


    कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देष दिए कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए मैदानी अमले को सक्रिय किया जाए और उनके कार्य की निरंतर मानीटरिंग की जाए। 45 वर्ष से अधिक उम्र के ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोविड के टीके लगवाए जाएं। जिला अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाओं संबंधी सभी आवष्यक व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरूस्त रखा जाए, ताकि मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त हो सकें।


    कलेक्टर ने जिला अस्पताल में आॅक्सीजन की उपलब्धता सुचारू रूप से बनाए रखने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देष दिए और कहा कि इसकी रोजाना मानीटरिंग की जाए। आपने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे कार्यों को सुचारू रूप से चलाने के लिए स्वयं को एवं मैदानी अमले को कोरोना संक्रमण से बचने की स्वास्थ्य अधिकारियों समेत अन्य अधिकारियों को सलाह दी और कहा कि इस बीमारी से बचते हुए ही अपने कत्र्तव्यों का निर्वहन करें। कलेक्टर ने जिले में कार्यरत फीवर क्लीनिकों की जानकारी लेते हुए कहा कि इनकी नित्य माॅनीटरिंग की जाए और आवष्यकता पड़ने पर इनकी संख्या भी बढ़ाई जाए। आपने कहा कि टेस्टिंग के लिए यदि लैब टेक्निषियन बढ़ाने की आवष्यकता हो, तो इनकी संख्या भी बढ़ाई जाए, ताकि ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग करके कोरोना संक्रमित लोगों की पहचान की जा सके।


    कलेक्टर ने होम आइसोलेषन कोरोना संक्रमित मरीजों से प्रतिदिन फोन पर बात कर उन्हें स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देने एवं आवष्यक दवाईयां उपलब्ध कराने के स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देष दिए। आपने रोजाना कोरोना संक्रमित मरीजों की जानकारी लेने की हिदायत भी दी। आपने कहा कि कोरोना मरीजों को स्वास्थ्य संबंधी किसी भी प्रकार की कठिनाई आने पर चिकित्सालय में भर्ती कराया जाए।


    कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे सरपंचों एवं सचिवों को निर्देषित करें कि जो व्यक्ति बाहर से आएं, तो उनकी टेªवल हिस्ट्री रखें एवं उनकी टेस्टिंग कराएं। आपने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण बढ़ाने के लिए पटवारियों एवं पंचायत सचिवों को सक्रिय किया जाए, ताकि पात्र व्यक्तियों का शत प्रतिषत टीकाकरण हो जाए। जो लोग बुजुर्ग हैं और स्वयं जाकर टीका नहीं लगवा सकते हैं, उनको टीका लगवाने में मदद करें। जिन लोगों के पास जाने के लिए साधन नहीं हैं और जिनके पास विषेष जानकारी नहीं हैं, उनकी कोरोना के ईलाज में पूरी मदद करें।

Share this story