कोरोना से बचाव के लिए किन लोगों को नहीं लगवानी चाहिए Covishield और Covaxin
कोरोना से बचाव के लिए किन लोगों को नहीं लगवानी चाहिए Covishield और Covaxin

सरकार भले ही कोरोना वैक्‍सीन प्रोग्राम को तेज करने की बात कर रही हो लेकिन अभी भी कुछ लोगों में वैक्‍सीन (Vaccine) को लेकर डर बना हुआ है. तो हम आपको बता रहे हैं कि भारत में लग रही कोविशील्ड और कोवैक्सीन किसे नहीं लगवानी चाहिए...

नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वैक्‍सीन का तीसरा चरण 1 मई से शुरू होने जा रहा है. 1 मई से देश के 18 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना वैक्‍सीन दी जाएगी. सरकार भले ही कोरोना वैक्‍सीन प्रोग्राम को तेज करने की बात कर रही हो लेकिन अभी भी लोगों में वैक्‍सीन को लेकर डर बना हुआ है. कई लोग वैक्‍सीन लगवाने के बाद होने वाले साइड इफेक्‍ट को लेकर काफी परेशान दिख रहे हैं. आइए हम आपको बताते हैं कि भारत में लग रही

कोविशील्ड और को वैक्सीन किसे नहीं लगवानी चाहिए .

कोविशील्ड किन लोगों को नहीं लगवानी चाहिए
कोविशील्ड की फैक्टशीट में कहा गया है कि गर्भवती या ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलओं को फिलहाल वैक्सीन लेने से बचना चाहिए. अगर ये महिला वैक्‍सीन लगवाना ही चाहती है तो उन्‍हें हेल्थकेयर प्रोवाइडर से सलाह लेनी चाहिए. इसके साथ एलर्जी, बुखार होने या फिर अगर आपने कोई और वैक्‍सीन ली है तो भी इसकी जानकारी बतानी चाहिए.

वैक्सीन लगवाने के बाद दिखने वाले साइड इफेक्ट
कोवैक्सीन और कोविशील्ड दोनों ने अपनी-अपनी कोरोना वायरस वैक्‍सीन के बारे में जानकारी दी है. दोनों ही कंपनियों ने बताया है कि इंजेक्शन लगने वाली जगह पर सूजन, दर्द, लाल और खुजली होने जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं. इसके साथ ही हाथ में अकड़न, बांह में कमजोरी, पूरे शरीर में दर्द और थकान, बुखार, बेचैनी, चकत्ते, मितली और उल्टी जैसे कुछ सामान्य साइड इफेक्ट्स हैं ।

Share this story